Chhattisgarh

क्रेडा सी.ई.ओ. ने दुर्ग संभाग के सात जिलों में क्रेडा के कार्यों का किया औचक निरीक्षण, अधिकारियों को दिये गुणवत्ता युक्त कार्यों के निर्देश






दुर्ग | दिनांक 25 मई 2024 को श्री राजेश सिंह राणा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, छ.ग. राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) द्वारा जिला-बेमेतरा के ग्राम-गर्रा, वि.ख.-साजा में जल जीवन मिशन योजना फेस-01 के तहत् मेसर्स नव्या टेक्नोलॉजी, रायपुर द्वारा स्थापित 12 मीटर स्टेजिंग क्षमता के सोलर ड्यूल पंप संयंत्र का निरीक्षण किया गया एवं ग्रामवासियों से पाईप लाईन से पानी घरों तक पहुंच रहा है कि नहीं के संबंध में चर्चा किया गया, चर्चा के दौरान ग्राम गर्रा निवासी श्री विजय बंजारे द्वारा अवगत कराया गया किl उनके घर तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है, जिस पर सी.ई.ओ. क्रेडा, द्वारा पी.एच.ई. से समन्वय कर श्री बंजारे की समस्या का तत्काल निराकरण करने हेतु क्रेडा के अधिकारियों को निर्देशित किया गया। सी.ई.ओ. क्रेडा श्री राणा द्वारा जल जीवन मिशन योजना अंतर्गत कुल स्थापित संयंत्रों एवं अकार्यशील संयंत्रों की संख्यात्मक जानकारी ली गई एवं अकार्यशीलता का कारण भी पूछा गया जल जीवन मिशन योजना अंतर्गत स्थापित संयंत्रों के तकनीकी मापदण्ड का आधुनिक उपकरणों के माध्यम से स्वयं अपने हाथ से ही एक-एक कर गेल्वेनाईजिंग, अर्थिंग का कर गुणवत्ता संबंधी जांच किया गया। निरीक्षण के दौरान पाये गये अकार्यशील संयंत्र को शीघ्र कार्यशील करने के निर्देश जिला प्रभारी, क्रेडा, बेमेतरा को निरीक्षण स्थल पर ही दिये गये। 
सी.ई.ओ., क्रेडा द्वारा ग्राम-कन्हेरा, वि.ख.-साजा में सौर सुजला योजना फेस-06 अंतर्गत हितग्राही श्री उत्तम कुमार साहू, के यहॉं स्थापित 3 एच.पी. क्षमता के सोलर पंप का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान पम्प कार्यशील पाया गया कृषक श्री उत्तम कुमार साहू से सोलर कृषि पंप से होने वाले लाभ के विषय में विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुये सोलर पंप के चालू होने के समय की जानकारी लिया तथा कृषक द्वारा रबि फसल के रुप में गेंहू की तैयारी करने की बात बताई गई। जिला बेमेतरा में स्थापित सौर संयंत्रों का निरीक्षण कर श्री राजेश सिंह राणा, सी.ई.ओ. क्रेडा दशरंगपुर होते हुए, सीधे जिला कबीरधाम के बिरनपुर ग्राम पहुंचे।
मुख्य कार्यपालन अधिकारी, क्रेडा द्वारा जिला कबीरधाम के कवर्धा विकासखण्ड के बिरनपुर में पहॅुंच कर वहॉं मेसर्स ग्रीन वर्ल्ड सोलरवेयर एण्ड के.एस.एल. क्लिनटेक, लि. रायपुर द्वारा जल जीवन मिशन योजना फेस-2 के तहत् 12 मीटर स्टेजिंग वाले स्थापनाधीन सोलर ड्यूल पम्प संयंत्र का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा स्थापित किये जा रहे सोलर ड्यूल पम्प के स्ट्रक्चर के गेल्वेनाईजिंग निविदा के मापदण्डानुसार है, कि नहीं जांच किया गया एवं फाऊण्डेशन, आर्थिंग के विषय में फिल्ड के अभियन्ताओं से जानकारी ली गई, एवं संयंत्र स्थापना कार्य को शीघ्र ही पूर्ण कराने हेतु निर्देश दिया गया। साथ सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा ग्राम बिरनपुर में कुल कितने सोलर पम्प स्थापित किया जाना है, कि जानकारी लिया गया जिसमें अधीक्षण अभियन्ता जोनल कार्यालय, दुर्ग द्वारा अवगत कराया गया कि, ग्राम में कुल 04 नग सोलर ड्यूल पम्प संयंत्र स्थापित किया जाना प्रस्तावित है, जिसमें से 03 में स्ट्रक्चर स्थापना कार्य प्रगतिरत् है एवं 01 स्थल में स्ट्रक्चर प्रदाय किया जा चुका है।
वहॉं से निकलकर ग्राम बिरकोना, विकासखण्ड कवर्धा के हितग्राही श्री लक्ष्मीकांत चन्द्रवंशी पता श्री भागवत चन्द्रवंशी के कृषि भूमि में सौर सुजला योजना फेस-8 के तहत् मेसर्स शंकर मशीनरी, रायपुर द्वारा स्थापित 03 ए.पी. क्षमता के सोलर पम्प निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान सोलर पम्प की गुणवत्ता की जांच स्वयं सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा किया गया एवं हितग्राही श्री लक्ष्मीकांत चन्द्रवंशी से चर्चा की गई एवं उनसे पुछा गया कि, संयंत्र कब स्थापित किया गया है, हितग्राही द्वारा अवगत कराया गया कि पम्प स्थापित किये लगभग 06 माह हो चुके है एवं उनके द्वारा 05 एकड़ कृषि भूमि को सोलर पम्प से सिंचित कर प्रति एकड़ लगभग 350 क्विंटल गन्ना का उत्पादन ले रहा हॅूं, सोलर पम्प लगने से मैं सतुष्ट हू, हितग्राही द्वारा अवगत कराया गया है। यह भी जानकारी दिया गया कि, उत्पादित गन्ना में से लगभग प्रति एकड़ 100 क्विंटल गन्ना सहकारी शक्कर कारखाना में 450 रू. की दर से एवं शेष 250 क्विंटल गुड़ फेक्ट्री
को रू. 310-320 प्रति क्विंटल की दर से दिया जाता है जिसमें उन्हे रू. 40000-45000 लागत काटकर लगभग रू. 92000 की आमदानी होती है। सोलर पम्प का निरीक्षण कर रेस्टहाऊस, कबीरधाम पहुंचे जहॉं कलेक्टर एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत, कबीरधाम ने उनसे भेंट कर अन्य विषयों पर चर्चा किया गया।


राजेश सिंह राणा, सचिव, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग एवं सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा शेष बचे आवासों को शीघ्र ही पूर्ण कराने के निर्देश मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत, कबीरधाम को दिये गये ।
सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा पी.एम. जनमन योजना के निर्मित घरों का निरीक्षण कर ग्राम कौहापानी, विकासखण्ड स.लोहारा पहॅुंचें वहॉं जल जीवन मिशन योजन फेस-2 के तहत् मेसर्स के.आर.सी. कंस्ट्रक्शन एण्ड दीपक इंटरप्राईजेस, रायपुर द्वारा स्थापित 09 मीटर स्टेजिंग के सोलर ड्यूल पम्प संयंत्र का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा ग्राम की महिलाओं रेखा मंडावी, सुमरीन मंडावी, रामफुल मंडावी, एवं सुनिता मंडावी से पेयजल के घर तक पहुंच रहा है कि नहीं के संबंध में जानकारी लिया जिसमें महिलाओं द्वारा अवगत कराया गया कि पी.एच.ई. द्वारा पाईप लाईन का विस्तार कर दिया गया है परन्तु सोलर संयंत्र से जोड़ा नहीं गया है। जिस पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी, क्रेडा द्वारा क्रेडा के अधिकारियों को पी.एच.ई. से समन्वय कर शीघ्र ही पाईप लाईन कनेक्ट कराने हेतु निर्देशित किया गया, महिलाओं द्वारा बिजली की समस्या से भी अवगत कराया गया जिस पर अधीक्षण अभियन्ता क्रेडा जोनल कार्यालय, दुर्ग द्वारा अवगत कराया गया कि वहॉं सी.एस.पी.डी.सी.एल. की लाईन है, एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत, कबीरधाम द्वारा अवगत कराया गया कि, जिले में आये तेज आंधी-तूफान के कारण विद्युत बाधित है। सोलर पम्प लग जाने से ग्रामवासी खुश है। सी.ई.ओ. क्रेडा, दोपहर के भोजन के बाद सीधे ग्राम सिल्हाटी, विकासखण्ड सहसपुर लोहारा पहुंचें जहॉं लगभग चार साल पहले बंजर पड़े लगभग 04 एकड़ जमीन पर हितग्राही श्री सुमीत मिरानी पिता श्री हिरजीभाई मिरानी द्वारा सौर सुजला योजना का लाभ लेकर वर्ष 2019-20 में सोलर पम्प स्थापित कर ड्रेगनफ्रूट की खेती कर रहे है खेत में उपस्थित केयरटेकर श्री भारत वर्मा द्वारा अवगत कराया गया कि, कुल 1906 पोल लगाये गये है जिसके प्रत्येक पोल में 04 पौधे रोपे गये है इस प्रकार कुल 7624 पौधे रोपित किये  गये है।  प्रत्येक पोल में रोपित पौधों से औसतन 03 किलोग्राम ड्रेगनफ्रूट का उत्पादन एक सीजन में होता है, जिसका बाजार मूल्य 100-110 रूपये है। जिसमें से उत्पादन लागत काटकर लगभग रू. 35000 का आमदानी किसान को होता है। अवगत कराया गया। वहॉं स्थापित सोलर पम्प से पानी को पाईप लाईन के माध्यम से छोटा तालाब बनाकर स्टोर किया जाता है एवं अन्य पम्प के माध्यम से ड्रीप के माध्यम से पौधों को सिंचित किया जाता है।
कवर्धा से निकलकर मुख्य कार्यपालन अधिकारी, क्रेडा सीधे जिला खैरागढ-छुहीखदान-गंडाई पहुंचकर ग्राम नर्मदा चौकनार में जल जीवन मिशन योजना फेस-2 के तहत् मेसर्स सोलर एक्वा सॉल्यूशन द्वारा 12 मीटर स्टेजिंग क्षमता के स्थापनाधीन सोलर ड्यूल पम्प संयंत्र का गेल्वेनाईजिंग परीक्षण किया गया, फाऊण्डेशन के फ्लोरिंग को भी शीध्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये, पी.एच.ई. से समन्वय कर शीघ्र ही पाईप लाईन का कार्य पूर्ण कराने के निर्देश भी क्रेडा के अधिकारियों को दिया गया है।

ग्राम लक्ष्मणपुर विकासखण्ड छुहीखदान के हितग्राही श्रीमति लक्ष्मी मेरावी के यहॉं सौर सुजला योजना फेस-8 के तहत् मेसर्स ग्रीनसोल द्वारा स्थापित 03 ए.पी. (डी.सी. सबमर्सिबल पम्प) का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान हितग्राही श्रीमति लक्ष्मी मेरावी द्वारा बताया गया कि, उनके द्वारा 03 एकड़ जमीन में तालाब निर्माणकर मछली पालन किया जा रहा है, सोलर पम्प से तालाब में पानी की पूर्ति किया जा रहा है, सोलर पम्प के लगने से हितग्राही बहुत खुश है। लक्ष्मी मेरावी के यहॉं सोलर पम्प का निरीक्षण कर सी.ई.ओ. क्रेडा ग्राम पाटा पहुंचे वहॉं जल जीवन मिशन योजना फेस-2 के तहत् मेसर्स विनायक ट्रेडर्स द्वारा स्थापित 12 मीटर स्टेजिंग क्षमता के सोलर ड्यूल पम्प संयंत्र के निरीक्षण किया गया, संयंत्र कार्यशील पाया गया, परन्तु पी.एच.ई. द्वारा पाईप लाईन नहीं किया गया, जिस पर सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा पी.एच.ई. से समन्वय कर शीघ्र ही पाईप लाईन पूर्ण कराने हेतु क्रेडा के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। ग्राम में ही आगे जाने पर मंदिर के पास 6 मीटर स्टेजिंग क्षमता के सोलर ड्यूल पम्प 4 से 5 महिलाएं घरेलू उपयोग के लिए पानी भर रही थी, महिलाएं उक्त पम्प को देखकर सी.ई.ओ. क्रेडा को उसकी उपयोगिता के बारे में बताने लगे, जिसमें सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा स्पॉट सोर्स के लिए ऐसे छोटे पम्पों को भी स्थापित कराने हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश क्रेडा के अधिकारियों को दिये गये जिससे ग्रामवासियों को शुद्ध पेयजल मिल सके।

निरीक्षण के दौरान सी.ई.ओ. क्रेडा कलकसा पहुंचे वहॉं सौर सुजला योजना फेस-7 के तहत हितग्राही श्री कंगलूराम के यहॉं मेसर्स ग्रीनसोल द्वारा स्थापित 03 एच.पी. क्षमता के सबमर्सिबल पम्प निरीक्षण किया गया, सी.ई.ओ. क्रेडा से चर्चा के दौरान हितग्राही द्वारा सोलर पम्प के उपयोगिता के बारे में बताया गया कि, सोलर पम्प से सिंचाई कर कुंदरू एवं बैंगन की खेती किया जा रहा है, जिससे सप्ताह में 01 टन कुंदरू का उत्पादन हो रहा है, जिसमें उन्हे रू. 30000 सप्ताहिक लाभ हो रहा है, एवं बैंगन से रू. 2000 सप्ताहिक लाभ हो रहा है। हितग्राही द्वारा बताया गया कि वे सोलर पम्प का उपयोग कर विगत 02 वर्षो में लगभग दस लाख रुपये तक आमदनी कर चुके हैं।

खैरागढ़-छुहीखदान-गंडाई से सीधे मुख्य कार्यपालन अधिकारी, क्रेडा सीधे जिला राजनांदगांव पहुंचकर ग्राम महरूमखुर्द हितग्राही श्री सेवकराम के यहॉं सौर सुजला योजना फेस-3 के तहत् स्थापित 03 ए.पी.         का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान हितग्राही श्री सेवकराम द्वारा बताया गया कि, सोलर पम्प रूक-रूक कर चल रहा है। क्रेडा, सी.ई.ओ. द्वारा शीघ्र ही समस्या का निराकरण कर अवगत कराने हेतु क्रेडा के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।

राजनांदगांव पहुंचकर ऊर्जा शिक्षा उद्यान का निरीक्षण किया गया, जिसमें संचालन, संधारण हेतु सम्पूर्ण पार्क का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान पार्क के रखरखाव कार्य के लिए आवश्यक प्रस्ताव तैयार कर प्रेषित करने हेतु क्रेडा के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।  मेसर्स विनायक ट्रेडर्स द्वारा स्थापित 12 मीटर स्टेजिंग क्षमता के सोलर ड्यूल पम्प संयंत्र के निरीक्षण किया गया, संयंत्र कार्यशील पाया गया, परन्तु पी.एच.ई. द्वारा पाईप लाईन नहीं किया गया, जिस पर सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा पी.एच.ई. से समन्वय कर शीघ्र ही पाईप लाईन पूर्ण कराने हेतु क्रेडा के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। ग्राम में ही आगे जाने पर मंदिर के पास 6 मीटर स्टेजिंग क्षमता के सोलर ड्यूल पम्प 4 से 5 महिलाएं घरेलू उपयोग के लिए पानी भर रही थी, महिलाएं उक्त पम्प को देखकर सी.ई.ओ. क्रेडा को उसकी उपयोगिता के बारे में बताने लगे, जिसमें सी.ई.ओ. क्रेडा द्वारा स्पॉट सोर्स के लिए ऐसे छोटे पम्पों को भी स्थापित कराने हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश क्रेडा के अधिकारियों को दिये गये जिससे ग्रामवासियों को शुद्धपेयजल मिल सके।


इसी कडी में दिनांक 26.05.2024 को क्रेडा के सीईओ श्री राजेश सिंह राणा राजनांदगांव से सीधे अम्बागड़ चौकी होते हुए जिला-मोहला-मानपुर अम्बागड़ चौकी के ग्राम-छुरिया में जल जीवन मिशन अंतर्गत स्थापित सोलर पंप का निरीक्षण किया गया।
पंप कार्यशील अवस्था में पाया गया, लेकिन लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा बिछाये गये पाईप लाईन के साथ कनेक्टिवटी नही होने पर वहाँ पर उपस्थित अधिकारियों को तत्काल पी.एच.ई. के अधिकारियों से समन्वय कर निर्देश दिये गये। अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया गया अर्थिंग के लिए उपयोग किये जा रहे वॉयर के स्थान पर जी.आई. स्ट्रीफ ही स्थापित कराने के लिए इकाई को नोटिस जारी कर कार्य पूर्ण करावें। शासन द्वारा संचालित अन्य महत्वपूर्ण योजनाए जैसे- महतारी वंदन योजना, तेदु पत्ता संग्रहण, प्रधानमंत्री आवस योजना, वृद्वा पेशन एवं बिजली की उपलब्धता की जानकारी वहाँ पर उपस्थित ग्रामीणों से ली गई। श्रीमती शुशीला यादव एवं श्रीमती दुर्गा बाई देवसरिया द्वारा बताया गया कि 03 माह का रू.1000/-(एक हजार रूपये) प्रतिमाह की दर से तीन-तीन हजार रूपये बैक खाता के माध्यम से मिल चुका है। इनके द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि इस राशि से हमारें बाल-बच्चों के लिए पढाई की सामग्रीयां और आवश्यक जरूरी सामनों की प्रतिपूर्ति हो पा रही है, इस योजना से हमें बहुत खुशी है। वहाँ पर उपस्थित संजय कुमार के द्वारा तेदू पत्ता संग्रहण के बारे में बताया गया कि पहले चार हजार रूपये प्रतिमानक बोरा मिल रहा था अब हमें रू.5,500/-(पाच हजार पाच सौ रूपये) प्रतिमानक बोरा प्राप्त हो रहा है। इससे हमारे आथिक स्थिति में काफी सुधार हो रहा है। और हमारे गांव में वृद्वा पेशन भी समय पर मिल जा रहा है।
     

इसके पश्चात् क्रेडा के सीईओ के द्वारा माडिग पीडिन्ग(भुर्सा) में स्थापित जल जीवन मिशन सोलर पंप का निरीक्षण किया गया वहाँ पर उपस्थित श्रामती लीला बाई नुरेटी, श्रीमती शुभद्रा बाई कुआची, श्री महेन्द्र नुरेटी एवं श्री ईश्वर नुरेटी से शासन की योजनाओं की जानकारी ली गई व क्रेडा के कार्यों का गुणवत्ता चेक किया गया। फिर इसके बाद ग्राम-माडिग पीडिन्ग(धेनु) पहुँच कर जल जीवन मिशन में स्थापित 01 नग सोलर पंप एवं 01 नग स्थापनाधीन पंप का निरीक्षण किया गया। दुर्ग जोन के अधीक्षण अभियंता श्री भानु प्रताप द्वारा अवगत कराया गया कि इकाई द्वारा पहले जो फाऊण्डेशन बनाया गया था वो बेहद ही घटिया एवं गुणवत्ताहीन था जिसे तत्काल निरस्त कर अन्य स्थल पर पास में ही दूसरे स्थल पर फिर से नया फाऊण्डेशन बना कर कार्य करने के लिए इकाई को निर्देशित किये गये थे।

जिसके परिपालन में इकाई मेसर्स मंदनानी इंजीनियरिंग कानपुर द्वारा पुनः नया फाऊण्डेशन कर संयंत्र को स्थापित कराया जा रहा है। वही पर रखे 02 नग 5,000 लीटर क्षमता के पानी टंकी का भी गुणवत्ता चेक किया गया जिसमें आवश्यक मानक ISI के कोड टैड मार्क व उसके लेयर सीपेट के निर्धारित मापदण्डानुसार चेक किया गया।

   
इसके पश्चात् माडिग पीडिन्ग(धेनू) में सौर सुजला योजना अंतर्गत 05एच.पी.क्षमता के सोलर सरफेस पंप स्थापित किया गया है। इस पंप से हितग्राही द्वारा 03-04 एकड़ में खेती का कार्य किया जा रहा है। सोलर पंप का उपयोग बहुत अच्छे से किया जा रहा है। कृषक परिवार द्वारा धन्यवाद दिया गया।
ग्राम-केवटटोला में जल जीवन मिशन सोलर पंप स्थापित किया गया है। जिसकी गुणवत्ता की जांच की गई एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को समन्वय स्थापित कर ऊपर पारा में पानी नही जा रहा है। ग्रामीणों के द्वारा गेटवॉल्व की मांग की गई जिससे की पानी की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकें। सीईओ के द्वारा क्रेडा के अधिकारियों को निर्देश दिये गये।
श्री राजेश सिंह राणा द्वारा क्रेडा में सी.ई.ओ. का पदभार सम्हालने के तुरंत बाद से ही क्रेडा द्वारा राज्य में स्थापित किये जा रहे सौर संयंत्रों के गुणवत्ता को सुधारने हेतु विशेष ध्यान दिया जा रहा है। क्रेडा के अधिकारियों को साथ लेकर स्वयं ही सतत् निरीक्षण पर चले जाने की प्रथा श्री राणा ने क्रेडा में स्थापित किया है, जिससे अपने वरिष्ठ अधिकारी के साथ निरीक्षण में जाने से क्रेडा के अधिकारी हर्षपूर्वक एवं अपनी पूरी क्षमता के साथ कार्यों में गुणवत्ता सुधार के  मिशन में तत्पर हैं। इसका असर फील्ड पर भी व्यापक रूप से प्रकट हो रहा है एवं क्रेडा द्वारा स्थापित किये जा रहे संयंत्रों के गुणवत्ता में लगातार और भी अधिक निखार प्राप्त हो रहा है।



——————————————————

Manish Tiwari

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button