Chhattisgarh

अमित शाह ने भूपेश को बताया 30 टका, अरुण साव ने बताया भ्रष्टाचार-घोटालों का पंजा


रायपुर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव कांग्रेस सरकार के काले कारनामों को उजागर करते हुए हर मंच पर आक्रामक नज़र आते हैं। भूपेश बघेल व उनकी सरकार को लेकर अरुण साव ने क्या नही कहा। वहीं बीतें दिनों राजनांदगांव के जनसभा में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी भूपेश बघेल को 30 टके वाला कह दिया।

अरुण साव ने एक्स सोशल मीडिया के माध्यम से अमित शाह का समर्थन करते हुए लिखा है:- “भूपेश कका 30 टका वाले!
:आदरणीय श्री @AmitShah जी

छत्तीसगढ़ सरकार = “30 टका भूपेश कका”

अरुण साव ने कांग्रेस सरकार को घोटालेबाज सरकार बताया है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में आम जनता को कोयला घोटाले की जानकारी थी। सौम्या चौरसिया किस तरह से सूर्यकांत तिवारी के साथ मिलकर खेला कर रही थी। CM हाउस में काम करने वाले वामपंथी लीडरों को छोड़ सबको पता था। तब इस काले कारनामों की जानकारी ED को भी होना था। ED ने जब कार्रवाई की तो सौम्या और उसके काले गैंग इस कोयला घोटाले की जद में आये और आज तक मामले में किसी को राहत नही मिली है।

देश ही नही दुनिया का एक मात्र और अद्भुत घोटाला गोबर घोटाला इस घोटाले की तो आम इंसान ने कल्पना भी नही की थी। लेकिन भूपेश है तो भ्रष्टाचार का भरोसा है। गोबर में भी इस कांग्रेस सरकार ने बड़ा घोटाला करके दिखा दिया। गोबर खरीदे मिट्टी मिला हुआ जो बरसात के पानी में बह गया। इस तरह से जवाब देने वाले विभागीय मंत्री मिट्टी मिला हुआ वर्मी कंपोस्ट खरीदने किसानों पर दबाव डालते हैं। गाय के गोबर में घोटाला यह केवल कांग्रेसी भ्रष्टाचारी मानसिकता की उपज है।

चावल घोटाला करके इस भूपेश सरकार ने बता दिया कि गरीब से ज्यादा चिंता 10 जनपथ के परिवार से प्रेम है। जिनके लिए छत्तीसगढ़ को ATM बना दिया गया है। चावल का पैसा कहां गया। यह सब जानते है कि 10 जनपथ गया। कांग्रेस पार्टी के चुनावी रैलियों में गया।

कोरोना काल के दौरान शराब में सेस लगाने का काम कांग्रेस सरकार ने किया। शराब से अतिरिक्त कमाई को जनकल्याण में लगाने के बजाए कांग्रेस पार्टी के खजाना को भरने का काम इस भ्रष्ट कांग्रेस सरकार ने किया है। सरकारी खजाने को क्षति पहुचाने का काम भूपेश बघेल की सरकार ने किया है। शराब बंदी का वादा करके 10 हजार करोड़ से अधिक का घोटाला इस कांग्रेस सरकार ने किया है।


गाय गरुआ के नाम पर राजनीति करते हुए गौठान योजना शुरू किया गया। आज गावों में गौठान दयनीय स्थिती में दिखाई तो देता है लेकिन गौठान में गाय नही दिखाई देती, गौठान के माध्यम से बड़े पैमाने पर घोटालों को अंजाम दिया गया है।

अरुण साव ने कहा इस घोटाले के पंजे को उखाड़ फेंकने के लिए BJP की सरकार बनाना आवश्यक है। नवम्बर 2023 के चुनाव में यह निश्चित हो गया है कि ऐसे घोटालेबाज सरकार से छत्तीसगढ़ जल्द मुक्त होने वाला है।

Related Articles
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button