उत्तरप्रदेश

रामलला प्राण प्रतिष्ठा: आज से शुरू होगा 7 दिवसीय प्राण-प्रतिष्‍ठा अनुष्‍ठान, 22 जनवरी को विराजेंगे प्रभु राम

धर्म विशेष |प्रभु राम के भक्‍तों इंतजार खत्‍म हुआ और आखिरकार अयोध्‍या में बने राम मंदिर में रामलला की मूर्ति विराजित करने की धार्मिक प्रक्रिया 16 जनवरी 2024 से शुरू हो जाएगी. 22 जनवरी को रामलला के विग्रह की गर्भगृह में प्राण प्रतिष्‍ठा के साथ 7 दिन का अनुष्‍ठान संपन्‍न होगा. लेकिन रामलला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा करने से पहले उसकी विधिवत पूजा अर्चना की जाएगी. 7 दिन तक उसके विभिन्‍न अनुष्‍ठान होंगे. इस दौरान कब क्‍या होगा इसका पूरा विवरण मंदिर ट्रस्‍ट द्वारा जारी कर दिया गया है.

16 जनवरी से शुरू हो रहे अनुष्‍ठान में रामलला के विग्रह के अधिवास अनुष्‍ठान होंगे. इसके बाद गर्भगृह में रामलला के विग्रह का प्रवेश, गणेश पूजन, यज्ञ कुंड की स्‍थापना, गर्भगृह का पवित्रीकरण, प्रभु का शैय्या अधिवास और फिर विग्रह की सिंहासन पर स्‍थापना की जाएगी.


इस तरह प्रभु राम के विग्रह की जीवन कारक द्रव्यों के अलावा शैय्या अधिवास की विशेष योजना है. इस प्रक्रिया में रामलला को शीशम के नवनिर्मित पलंग पर शयन कराया जाएगा. इसके लिए विशेष गद्दा, रजाई, चादर व तकिया आदि भी तैयार किए गए हैं. प्रभु का शैय्या अधिवास 21 जनवरी को रात्रि में होगा. रामलला के आसन का भी विशेष पूजन किया जाएगा.

Manish Tiwari

Show More

प्रातिक्रिया दे

Back to top button