National

कम हुआ जहरीली हवा का असर, क्या नई दिल्ली में हटेंगी GRAP-3 की पाबंदियां?

नई दिल्ली: दिल्ली-NCR में प्रदूषण का स्तर बीते दो दिनों के दौरान काफी कम हुआ है। पहाड़ों से आ रही ठंडी हवाओं ने यह राहत दिलाई है। हालांकि, प्रदूषण अब भी तय मानकों से कहीं ज्यादा है। बदल रही स्थिति के बीच ग्रैप-3 की पाबंदियां हटाने पर भी विचार हो सकता है। 2 नवंबर से ही राजधानी में कंस्ट्रक्शन पर आंशिक रोक लगी हुई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CAQM) के मुताबिक, रविवार को औसत AQI 301 रहा। पलूशन कम होने के बाद लोगों के मन में सवाल हैं कि क्या ग्रैप-4 के बाद ग्रैप-3 को भी हटा लिया जाएगा। हालांकि पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया है कि अभी ग्रैप-3 सख्ती से लागू रहेगा।

आज सुबह-सुबह क्या है प्रदूषण का हाल?
केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड यानी सीपीसीबी के डेटा के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार में AQI 362, ITO में 316, लोधी रोड और वजीरपुर में 392 AQI दर्ज किया गया है। एनसीआर की बात करें तो नोएडा सेक्टर 116 में 349, गाजियाबाद में 307, गुरुग्राम में 334 और फरीदाबाद में 336 AQI नोट किया गया है। हालांकि दिल्ली और एनसीआर के कई इलाकों में हवा बहुत खराब से खराब की स्थिति में भी पहुंची है।

15 से 31 दिसंबर के बीच फिर परेशान करेगा पलूशन
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की मानें तो1 से 15 नवंबर तक का समय साल में सबसे प्रदूषित रहा। प्रदूषण 15 से 31 दिसंबर तक दोबारा लोगों को काफी ज्यादा परेशान कर सकता है। दिल्ली प्रदूषण कंट्रोल कमिटी (DPCC) ने 2018 से 2022 तक हर पंद्रह दिन का एक विश्लेषण किया है। वजह यह है कि इस दौरान हवाएं सबसे ज्यादा कमजोर रहती हैं। साथ ही दिवाली और प्रदूषण भी इसी समय आता है। अब साल के दूसरे सबसे प्रदूषित दिन 15 से 31 दिसंबर के बीच रहेंगे। इस दौरान भी ठंड तेजी से बढ़ रही होती है। इस समय भी हवाएं काफी कमजोर हो जाती हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button