Chhattisgarh

पीएम मोदी ने 10 सालों में भारत को बनाया डिजिटल इंडिया, 34 लाख करोड़ रुपए का हुआ डिजिटल ट्रांसफर : उपमुख्यमंत्री साव

*उपमुख्यमंत्री श्री अरुण साव रायपुर में आयोजित आईसेक्ट के समर्थ भारत कॉन्क्लेव में हुए शामिल*

*आईसेक्ट ने सरकारी योजनाओं को निचले स्तर तक पहुंचाया, डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया में निभाई अहम भूमिका  : उपमुख्यमंत्री साव*

*2014 से पहले देश की जनसंख्या एक समस्या थी, आज 2024 में ये भारत की ताकत है : उपमुख्यमंत्री साव*

रायपुर। उपमुख्यमंत्री अरुण साव शनिवार शाम को रायपुर में आईसेक्ट (ISECT) के समर्थ भारत कॉन्क्लेव में शामिल हुए। कार्यक्रम में श्री साव ने आईसेक्ट के सफल उद्यमियों को सम्मानित किया। साथ ही रोजगार हासिल करने वाले विद्यार्थियों को आफर लेटर देकर प्रोत्साहित किया। वहीं लंबे समय तक लोगों को प्रशिक्षित करने वालें सेंटर संचालकों का भी सम्मान किया गया। 


कॉन्क्लेव में उपमुख्यमंत्री श्री साव ने कहा कि आप अपनी मेहनत और क्षमता से एक मुकाम हासिल किया है। इन कार्यों से आपने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। वहीं आप अनेक नवजवानों के सपने साकार कर रहे हैं। भारत सरकार की योजनाएं जैसे- डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया को लेकर काम कर रहे हैं। विकसित भारत निर्माण में योगदान दे रहे हैं। ये देश की आवश्यकता है।

श्री साव ने कहा कि युवा बड़ी डिग्री हासिल कर नौकरी के पीछे भागते हैं। लेकिन आपने एक नई दिशा तय की है। सरकारी योजनाओं को आप निचले स्तर तक ले जाने का काम कर रहे हैं। श्री साव ने कहा कि, 2014 से पहले भारत में घोर निराशा थी। भ्रष्टाचार के कारण लोग परेशान थे। देश की जनसंख्या एक गंभीर समस्या थी। लेकिन मोदी सरकार ने पिछले 10 सालों में देश को बहुत आगे बढ़ाया है। मोदी जी ने देश की जनसंख्या को ताकत बनाने का काम किया है। सबसे युवा देश हमारा है, उसकी क्षमता का उपयोग देशहित में करने मोदी जी ने सिखाया है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि, भारत आज डिजिटिल इंडिया बन गया है। 34 लाख करोड़ रुपए का ट्रांसफर डिजिटल माध्यम से हुआ है। यही आज के भारत की ताकत है। देश में 50 करोड़ जनधन खाते खुले हैं। श्री साव ने कहा कि, जिन्होंने कभी बैंक का दरवाजा नहीं देखा था, आज उनके खाते में पैसा आ रहा है। 70 लाख महिलाओं को एक बटन दबाकर उनके खाते में एक-एक हजार रुपए ट्रांसफर किए हैं। ये सब टेक्नोलाजी के उपयोग से संभव हुआ है।

अंत में श्री साव ने कहा कि
हौसला है तो चलकर मंजर भी पास आएगा, प्यासे के पास चलकर संमदर भी पास आएगा।
थक कर ना बैठ मंजिल के मुसाफिर, मंजिल भी मिलेगी और जीने का मजा भी आएगा ।।

Manish Tiwari

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button